यूपी गौशाला योजना 2021-22: ऑनलाइन पंजीकरण, लॉगिन और आवेदन की स्थिति


यूपी गौशाला योजना ऑनलाइन आवेदन करें | यूपी गौशाला योजना ऑनलाइन पंजीकरण | यूपी गौशाला योजना आवेदन स्थिति | यूपी गौशाला योजना आवेदन पत्र

देश भर में विभिन्न प्रकार की गौशालाएं स्थित हैं। इन सभी गौशालाओं के विकास के लिए सरकार लगातार प्रयास कर रही है। जिसके लिए सरकार द्वारा तरह-तरह की योजनाएं चलाई जाती हैं। इन योजनाओं के जरिए सरकार देगी गौशालाएं वित्तीय सहायता प्रदान करते हैं किया जाता है। इस लेख के माध्यम से, आप उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू करेंगे। यूपी गौशाला योजना सभी संबंधित जानकारी प्रदान की जाएगी। आप इस लेख को पढ़ें उत्तर प्रदेश गौशाला योजना उपयोगकर्ता लाभ, उद्देश्य, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन करने की प्रक्रिया आदि से संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकते हैं, इसलिए यदि आप यूपी गौशाला योजना यदि आप इस लेख का पूरा विवरण प्राप्त करना चाहते हैं तो आपसे अनुरोध है कि इस लेख को अंत तक पढ़ें।

यूपी गौशाला योजना 2021-22

उत्तर प्रदेश की गौशालाओं के बेहतर प्रबंधन के लिए उत्तर प्रदेश गौशाला अधिनियम 1964 पेश किया गया है। यह अधिनियम पूरे राज्य में लागू किया जाएगा। उत्तर प्रदेश में करीब 498 गौशालाएं हैं। इन सभी गौशालाओं के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जाता है। ताकि उनका विकास किया जा सके। इन योजनाओं के माध्यम से वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। इसके अलावा गौशालाओं में कार्यरत नागरिकों को प्रशिक्षण भी दिया जाता है। इन योजनाओं का लाभ लेने के लिए सभी गौशालाओं का पंजीकरण होना अनिवार्य है। गौशाला प्रबंधक द्वारा गौशाला का पंजीकरण क्षेत्रीय गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश द्वारा किया जाता है। यह पंजीकरण आवेदक द्वारा स्वयं या सीएससी केंद्र के माध्यम से किया जाता है।

राज्य के नागरिकों को गौशाला पंजीकरण करवाने के लिए किसी सरकारी कार्यालय में जाने की आवश्यकता नहीं होगी। वह घर बैठे आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से गौशाला का पंजीकरण करा सकेंगे। इससे समय और धन दोनों की बचत होगी और व्यवस्था में पारदर्शिता भी आएगी।

यूपी गौशाला योजना का उद्देश्य

यूपी गौशाला योजना योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य की सभी गौशालाओं का विकास करना है। इस योजना के माध्यम से गौशालाओं को वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इससे अलग कुछ गौशाला में कार्यरत नागरिक प्रशिक्षण भी दिया जाएगा ताकि वह बेहतर प्रबंधन कर सके। यह योजना न केवल गौशालाओं का विकास करेगी बल्कि रोजगार के अवसर बढ़ाने में भी कारगर साबित होगी। इस यूपी गौशाला योजना 2021-22 आवेदन स्वयं या सीएससी केंद्र के माध्यम से किया जा सकता है। अब राज्य के नागरिकों को आवेदन करने के लिए किसी सरकारी कार्यालय में जाने की जरूरत नहीं होगी. इस प्रक्रिया से समय की बचत के अलावा व्यवस्था में पारदर्शिता आएगी।

मुख्य विचार के ऊपर गौशाला योजना 2021-22

योजना का नाम यूपी गौशाला योजना
किसने शुरू किया उत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थी राज्य गौशाला
उद्देश्य प्रदेश में स्थित गौशालाओं का विकास
आधिकारिक वेबसाइट यहाँ क्लिक करें
वर्ष 2021
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन
राज्य उत्तर प्रदेश

यूपी गौशाला योजना के लाभ और विशेषताएं

  • उत्तर प्रदेश की गौशाला के बेहतर प्रबंधन के लिए उत्तर प्रदेश गौशाला अधिनियम 1964 पेश किया गया है।
  • यह अधिनियम पूरे राज्य में लागू किया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश में करीब 498 गौशालाएं हैं।
  • इन सभी गौशालाओं के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जाता है।
  • इन योजनाओं के माध्यम से गौशालाओं का विकास किया जाता है।
  • ये योजनाएँ न केवल गौशाला को वित्तीय सहायता प्रदान करती हैं बल्कि गौशाला में कार्यरत नागरिकों को प्रशिक्षण भी प्रदान करती हैं।
  • इन योजनाओं का लाभ लेने के लिए सभी गौशालाओं का पंजीकरण होना अनिवार्य है।
  • यह पंजीकरण प्रदेशित गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश द्वारा किया जाता है।
  • आवेदक अपना या सीएससी केंद्र के माध्यम से पंजीकरण करा सकता है।
  • राज्य के नागरिकों को पंजीकरण के लिए किसी सरकारी कार्यालय में जाने की आवश्यकता नहीं होगी।
  • नागरिक इस योजना के तहत घर बैठे आधिकारिक वेबसाइट के माध्यम से पंजीकरण कर सकेंगे।
  • इससे समय और धन दोनों की बचत होगी और व्यवस्था में पारदर्शिता आएगी।

यूपी गौशाला योजना की पात्रता और महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • गौशाला उत्तर प्रदेश में स्थित होनी चाहिए।
  • केवल पंजीकृत गौशाला ही इस योजना का लाभ पाने की पात्र हैं।
  • गौशाला में रखी गायों का विवरण स्वरूप
  • गौशाला के लिए उपलब्ध भूमि अभिलेखों की प्रति
  • संस्था के पंजीकरण प्रमाण पत्र, उद्देश्य एवं संस्था के नियमों की छायाप्रति
  • गौशाला के खर्च का विवरण
  • संस्था के कार्यकारी निकाय द्वारा गौशाला के पंजीकरण हेतु प्रस्ताव की प्रति
  • सोसायटी के बैंक खाते का विवरण
  • गौशाला की स्थापना के संबंध में लेख/प्रस्ताव की प्रति
  • समिति के पैन कार्ड और आधार कार्ड की कॉपी
  • घोषणा पत्र पर सभी अधिकारियों के हस्ताक्षर
  • अभिलेखों, पत्राचार आदि के रख-रखाव के लिए अधिकृत न्याय के लेख/प्रस्ताव की एक प्रति।
  • गौशाला की वर्तमान प्रबंधन समिति में उत्तरी अधिकारी को नियमित करने के लेख या प्रस्ताव की प्रति

पंजीकरण की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको क्षेत्रीय गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश में अपना पंजीकरण कराना होगा। आधिकारिक वेबसाइट जारी रहेगा।
यूपी गौशाला योजना
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • आप होम पेज पर पंजीकरण आपको ऑप्शन पर क्लिक करना है।
यूपी गौशाला योजना
  • अब आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा।
  • आपको इस फॉर्म में निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी।
    • गौशाला का नाम
    • स्थापना दिनांक
    • जिला
    • आवेदक का नाम
  • अब आपको सबमिट ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इसके बाद आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक यूजर आईडी और पासवर्ड आएगा।
  • आपको यूजर आईडी और पासवर्ड का उपयोग करके लॉग इन करना होगा।
  • लॉग इन करने के बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल जाएगा।
  • इस फॉर्म में पूछी गई सभी जरूरी जानकारियां आपको दर्ज करनी होंगी।
  • अब आपको सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज अपलोड करने होंगे।
  • इसके बाद आपको सबमिट ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आप रजिस्ट्रेशन कर पाएंगे।

प्रमाणपत्र सत्यापन प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको क्षेत्रीय गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश में अपना पंजीकरण कराना होगा। आधिकारिक वेबसाइट जारी रहेगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • उसके बाद तुम सत्यापन आपको ऑप्शन पर क्लिक करना है।
यूपी गौशाला योजना
  • अब आपको अपना जिला और सर्टिफिकेट नंबर डालना है।
  • इसके बाद आपको Get Status के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इस तरह आप सर्टिफिकेट वेरिफिकेशन कर पाएंगे।

गौशालाओं की सूची देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको क्षेत्रीय गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश में अपना पंजीकरण कराना होगा। आधिकारिक वेबसाइट जारी रहेगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • आप होम पेज पर गोशाला आपको ऑप्शन पर क्लिक करना है।
यूपी गौशाला योजना
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस पेज पर आप गौशालाओं की सूची देख पाएंगे।

लॉगिन प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको क्षेत्रीय गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश में अपना पंजीकरण कराना होगा। आधिकारिक वेबसाइट जारी रहेगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • उसके बाद तुम लॉग इन करें आपको ऑप्शन पर क्लिक करना है।
लॉग इन करें
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको अपना यूजरनेम और पासवर्ड डालना होगा।
  • इसके बाद आपको लॉगइन ऑप्शन पर क्लिक करना होगा।
  • इस तरह आप लॉग इन कर पाएंगे।

प्राधिकरण को अपील करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको क्षेत्रीय गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश में अपना पंजीकरण कराना होगा। आधिकारिक वेबसाइट जारी रहेगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • आप होम पेज पर प्राधिकरण से अपील आपको ऑप्शन पर क्लिक करना है।
प्राधिकरण से अपील
  • इसके बाद आपके सामने एक नया पेज खुलेगा।
  • इस पेज पर आपको निम्नलिखित जानकारी दर्ज करनी होगी।
    • जिला
    • ईमेल आईडी
    • पिता/पति का नाम
    • मोबाइल नंबर आदि
  • अब आपको सेंड अपील के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इस तरह आप अपील करने में सक्षम होंगे।

अनुलग्नकों की सूची देखने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको क्षेत्रीय गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश में अपना पंजीकरण कराना होगा। आधिकारिक वेबसाइट जारी रहेगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • उसके बाद तुम अनुरक्ति आपको ऑप्शन पर क्लिक करना है।
अनुलग्नकों की सूची
  • इसके बाद आपके सामने एक पीडीएफ फाइल खुल जाएगी।
  • इस फाइल में आप अटैचमेंट की लिस्ट देख पाएंगे।

पंजीकरण स्थिति की जांच करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले, आपको क्षेत्रीय गौशाला पंजीकरण प्रणाली, उत्तर प्रदेश में अपना पंजीकरण कराना होगा। आधिकारिक वेबसाइट जारी रहेगा।
  • अब आपके सामने होम पेज खुलेगा।
  • आप होम पेज पर पंजीकरण अवस्था आपको ऑप्शन पर क्लिक करना है।
पंजीकरण अवस्था
  • अब आपके सामने एक नया पेज खुलेगा जिसमें आपको अपने जिले का चयन करना होगा।
  • इसके बाद आपको एप्लीकेशन सीरियल नंबर डालना होगा।
  • अब आपको Get Status के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • इस तरह आप रजिस्ट्रेशन स्टेटस देख पाएंगे।

संपर्क विवरण

  • फोन- 0522-2740238, 0522- 2740482,
  • फैक्स – 0522-2740202,
  • ईमेल – [email protected],
  • पता- बादशाहबाग लखनऊ उत्तर प्रदेश

,

Leave a Comment