मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2021: ऑनलाइन आवेदन, पंजीकरण प्रक्रिया और लाभ


मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना लागू करें | मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना ऑनलाइन आवेदन | मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना पंजीकरण प्रक्रिया | राजस्थान किसान मित्र ऊर्जा योजना फॉर्म

हमारे देश के किसानों की स्थिति अभी भी आर्थिक रूप से स्थिर नहीं है। सरकार द्वारा समय-समय पर किसानों की आर्थिक स्थिति में सुधार के लिए विभिन्न प्रयास किए जाते हैं। ताकि किसानों की आय बढ़ाई जा सके। राजस्थान सरकार द्वारा किसानों की आय बढ़ाने के लिए तरह-तरह की योजनाएं चलाई जा रही हैं। ऐसी ही एक योजना मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना है। इस योजना के माध्यम से किसानों के बिजली बिल में सब्सिडी प्रदान की जाती है। इसी के बारे में आज हम आपको इस लेख के माध्यम से बताने जा रहे हैं। योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की जाने वाली है। जैसे मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का उद्देश्य, लाभ, सुविधाएँ, पात्रता, महत्वपूर्ण दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया आदि। तो आप हमारे इस article को अंत तक पढ़े।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना

इस योजना की शुरुआत राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने 9 जून 2021 को की है। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना इसके माध्यम से राज्य के मीटर वाले किसान उपभोक्ताओं को बिजली बिलों पर सब्सिडी प्रदान की जाती है। यह अनुदान राशि अधिकतम ₹1000 प्रति माह और अधिकतम ₹12000 प्रति वर्ष है। इस योजना के तहत सभी पात्र कृषि उपभोक्ता विद्युत वितरण निगम द्वारा द्विमासिक बिलिंग प्रणाली के आधार पर विद्युत बिल जारी किया जायेगा। बिजली बिल की 60 प्रतिशत राशि हर माह आनुपातिक आधार पर देय है। यह राशि अधिकतम ₹1000 प्रति माह है। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना मई 2021 से सभी किसान उपभोक्ताओं को इसका लाभ मिलना शुरू हो जाएगा। इस योजना के क्रियान्वयन पर सरकार की ओर से 1450 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना

8.84 लाख किसानों को मिला योजना का लाभ

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना इससे 8.84 लाख से अधिक काश्तकार किसान लाभान्वित हुए हैं। इन किसानों को 231 करोड़ रुपये का अतिरिक्त अनुदान दिया गया है। यह जानकारी राजस्थान सरकार के ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने दी है। इस योजना के माध्यम से 3.41 लाख से अधिक काश्तकार किसानों के बिजली बिल शून्य स्तर पर आ गए हैं। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के माध्यम से राज्य सरकार किसानों को 90 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिजली उपलब्ध करा रही है। इस योजना के तहत आवेदन निकटतम विद्युत विभाग के माध्यम से किया जा सकता है। इसके अलावा इस योजना का लाभ पाने के लिए आपका आधार नंबर अकाउंट से लिंक होना जरूरी है।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का शुभारंभ

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा 17 जुलाई 2021 को। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना लॉन्च किया गया है। यह लॉन्च वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए किया गया है। इस वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग के लिए 308 करोड़ रुपये की लागत की घोषणा की. विभिन्न योजनाएं का उद्घाटन भी कर दिया है। इस योजना के माध्यम से सरकार द्वारा किसानों को बिजली बिल पर ₹1000 प्रति माह का अनुदान प्रदान किया जाएगा। यह अनुदान सीधे किसान के बैंक खाते में वितरित किया जाएगा। इस योजना का लाभ मई 2021 से बिजली बिल पर दिया जाएगा। मुख्यमंत्री द्वारा यह जानकारी भी दी गई है कि वर्ष 2024 तक सौर ऊर्जा का लक्ष्य भी पूरा कर लिया जाएगा।

जिसमें 20000 मेगावाट बिजली पैदा करने का लक्ष्य रखा गया है। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना इससे छोटे और मध्यम वर्ग के किसानों के लिए कृषि बिजली लगभग मुफ्त हो जाएगी। इस योजना के तहत सरकार की ओर से सालाना 1450 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी।

मुख्य विचार राजस्थान का किसान मित्र ऊर्जा योजना 2021

योजना का नाम मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना
किसने शुरू किया राजस्थान सरकार
लाभार्थी राजस्थान की कृषि
उद्देश्य बिजली बिल पर सब्सिडी प्रदान करना
आधिकारिक वेबसाइट जल्द ही लॉन्च किया जाएगा
वर्ष 2021
आवेदन का प्रकार ऑनलाइन ऑफ़लाइन
राज्य राजस्थान Rajasthan
पैसे देना अधिकतम ₹1000 प्रति माह और ₹12000 प्रति वर्ष

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का उद्देश्य

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2021 योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को बिजली बिल पर सब्सिडी प्रदान करना है। इस योजना के माध्यम से किसानों को बिजली बिलों पर अधिकतम 1000 रुपये प्रति माह की अनुदान राशि प्रदान की जाएगी। ताकि किसानों को उनके बिलों का भुगतान करने में मदद मिल सके। इससे अलग कुछ मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना इसके जरिए किसानों को बिजली बचाने के लिए भी प्रेरित किया जाएगा। जिसके लिए अगर किसान का बिल ₹1000 प्रतिमाह से कम है तो ऐसी स्थिति में बिल राशि और अनुदान राशि के अंतर को लाभार्थी के खाते में ट्रांसफर कर दिया जाएगा।

विद्युत वितरण निगम में लाभार्थी के विरुद्ध बकाया

इस योजना का लाभ किसान उपभोक्ता तभी उठा सकता है जब विद्युत वितरण निगम में लाभार्थी का कोई बकाया न हो। बकाया होने की स्थिति में यदि कृषि उपभोक्ता बकाया का भुगतान करता है तो आगामी विद्युत बिल में अनुदान राशि देय होगी। इसके अलावा यदि किसी किसान द्वारा बिजली का कम उपयोग किया जाता है और उसका बिजली बिल ₹1000 से कम है, तो बिल राशि और अनुदान राशि के बीच का अंतर लाभार्थी के खाते में जमा किया जाएगा। ताकि उपभोक्ता बिजली बचाने के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया जा सके। मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारियों द्वारा लाभ नहीं उठाया जा सकता है। इस योजना का लाभ पाने के लिए लाभार्थी को अपना आधार नंबर बैंक खाते से जोड़ना अनिवार्य होगा।

किसान मित्र ऊर्जा योजना

वर्ष 2021-22 के बजट में की गई घोषणा

राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत द्वारा वर्ष 2021-22 के बजट की घोषणा करते हुए सामान्य वर्ग के ग्रामीण कृषि उपभोक्ताओं को ₹1000 प्रति माह और ₹12000 प्रति वर्ष की अनुदान राशि प्रदान करने की घोषणा की गई। यह घोषणा सिर्फ उन कृषि उपभोक्ताओं के लिए की गई जिनका बिल मीटरिंग से आता है। इस घोषणा को ध्यान में रखते हुए विद्युत वितरण निगम द्वारा टैरिफ सब्सिडी मद में 750 करोड़ रुपये का प्रावधान भी शामिल किया गया था। यह प्रावधान अनुदान राशि के हस्तांतरण के लिए निर्धारित किया गया है।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2021 के लाभ और विशेषताएं

  • मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना इसे राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने 9 जून 2021 को लॉन्च किया है।
  • इस योजना के माध्यम से राज्य के किसानों को सब्सिडी प्रदान की जाएगी। जिससे उन्हें बिजली बिल भरने में मदद मिल सके।
  • यह अनुदान राशि अधिकतम ₹1000 प्रति माह और अधिकतम ₹12000 प्रति वर्ष है।
  • विद्युत वितरण निगम द्वारा इस योजना के तहत सभी पात्र कृषि उपभोक्ताओं को द्विमासिक बिलिंग व्यवस्था के आधार पर बिजली बिल जारी किया जायेगा.
  • इस योजना को शुरू करने की घोषणा मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत जी ने वर्ष 2021 के बजट में की थी।
  • बिजली बिल की 60 प्रतिशत राशि हर माह आनुपातिक आधार पर देय होगी। जो अधिकतम ₹1000 प्रतिमाह होगा।
  • मई 2021 से सभी किसान उपभोक्ता इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • इस योजना के क्रियान्वयन पर सरकार की ओर से 1450 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे।
  • इस योजना का लाभ कृषि द्वारा तभी उठाया जा सकता है जब कृषि के विद्युत वितरण निगम का कोई बकाया न हो।
  • मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना 2021 लाभ प्राप्त करने के लिए, लाभार्थी को अपने आधार नंबर को बैंक खाते से जोड़ना अनिवार्य होगा।
  • यदि किसान द्वारा बकाया राशि का भुगतान किया जाता है, तो उस स्थिति में आगामी बिजली बिल में सब्सिडी राशि देय होगी।
  • यदि कृषि द्वारा बिजली का कम उपयोग होता है और बिल ₹1000 से कम आता है, तो बिल राशि और अनुदान राशि के बीच का अंतर लाभार्थी के खाते में जमा किया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से कृषि उपभोक्ताओं को भी बिजली बचाने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का लाभ केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारी नहीं ले सकते हैं।

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना की पात्रता

  • आवेदक राजस्थान का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना का लाभ केवल राजस्थान के कृषि उपभोक्ता ही प्राप्त कर सकते हैं।
  • इस योजना का लाभ केंद्र और राज्य सरकार के कर्मचारी नहीं उठा सकते हैं।
  • अगर आप इस योजना का लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो अपने आधार नंबर को अपने खाते से लिंक करना अनिवार्य है।

किसान मित्र ऊर्जा योजना के लिए आवेदन करने के लिए महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • बैंक खाता विवरण
  • पते का सबूत
  • राशन पत्रिका
  • आय प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट के आकार की तस्वीर
  • मोबाइल नंबर

मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको अपने नजदीकी विद्युत विभाग में जाना होगा।
  • इसके बाद आपको वहां से मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा।
  • अब आपको आवेदन पत्र में पूछी गई सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आपका नाम, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी आदि दर्ज करनी होगी।
  • अब आपको आवेदन पत्र के साथ सभी महत्वपूर्ण दस्तावेज संलग्न करने होंगे।
  • इसके बाद आपको यह आवेदन पत्र बिजली विभाग को जमा करना होगा।
  • इस तरह आप मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना के तहत आवेदन कर सकेंगे।

,

Leave a Comment